Corona virus update and medicine for india

Corona  virus medicine india : दोस्तों जैसा की आप सभी जानते हैं पूरी दुनिया में Corona virus बहुत ही तेजी से फ़ैल रहा हैं और अभी इसकी वजह से पूरी दुनिया में लगभग 10000 से भी ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी हैं, और India में भी 3 लोगों की अभी तक मौत हो चुकी हैं और लगभग 200 से भी ज्यादा Positive case हो चुके हैं और सभी के सामने यह एक बहुत बड़ी चुनोती हैं, क्यूंकि अभी तक इसकी कोई भी medicine नहीं बनी हैं, लेकिन काफी सारे ऐसे दावे किये जा रहे हैं की इसकी medicine तैयार कर ली गयी हैं |

corona virus 

Corona Virus infection symptoms 

The following symptoms may appear 2-14 days after exposure.*
  • Fever
  • Cough
  • Shortness of breath
दोस्तों अगर  आपको इनमे से कोई भी दिक्कत हैं तो आप जल्द से जल्द Doctor के पास जाकर Checkup करवाए | इनके अलावा अगर आपको नीचे दिए गए कुछ Symptoms दिखे तो यह Seriuos Condition हो सकती हैं |

If you develop emergency warning signs for COVID-19 get medical attention immediately. Emergency warning signs include*:
  • Difficulty breathing or shortness of breath
  • Persistent pain or pressure in the chest
  • New confusion or inability to arouse
  • Bluish lips or face
*This list is not all inclusive. Please consult your medical provider for any other symptoms that are severe or concerning.
दोस्तों Corona virus के बारे में ज्यादा जानकारी न होने के कारण इसकी अपवाह बहुत ज्यादा फ़ैल रही हैं और अगर देखा जाए तो यह कोई इतनी भी बड़ी समस्या नहीं हैं इसलिए इससे डरने की नहीं लड़ने की जरुरत हैं | दोस्तों हालांकि इसकी वजह से काफी लोगों की मौत हो चुकी हैं लेकिन इसका Deth ratio सिर्फ 2 से 3% हैं यानी की 100 में से 2 या 3 लोगो की इसकी वजह से मौत होती हैं | 

दोस्तों आप अपने रोजमर्रा की दिन्च्रिया में कुछ सावधानिय रखकर इस Virus से आसानी से बच सकते हैं, आपको बस कुछ सावधानिय रखनी होगी - 

corona virus vaccine

1. ठंड और बर्फ कोरोना को मार सकती है?
विश्व स्वास्थ्य संगठन के मुताबिक, इस पर यकीन करने का कोई कारण नहीं है कि ठंड का मौसम नए कोरोना वायरस या अन्य बीमारियों को मार सकता है. कोरोना से खुद को बचाने के लिए सबसे बेहतर तरीका अल्कोहल युक्त सैनीटाइजर या साबुन और पानी से हाथ को साफ करते रहना है.
2. गर्म पानी से नहाने से होगी रोकथाम?
विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने यह भी खुलासा किया है कि गर्म पानी से नहाने से नए कोरोना वायरस की रोकथाम नहीं की जा सकती है. कोरोना से बचाने के लिए सबसे अच्छा तरीका अपने हाथों की सफाई करना है. ऐसा करने से आप अपने हाथों पर लगने वाले संक्रमण को खत्म कर सकते हैं.
3. मच्छर के काटने से कोरोना फैलता है?
इस बात का कोई सबूत नहीं है कि कोरोना वायरस मच्छर काटने से हो सकता है. यह श्वसन संबंधी वायरस है, जो मुख्यरूप से संक्रमित व्यक्ति के खांसने, छींकने से फैसला है. इस संक्रमण से बचने के लिए हमेशा हाथ धोएं और खांसी व छींकने वाले किसी भी शख्स के साथ निकट संपर्क से बचें. इसके अलावा लार के जरिए भी यह वायरस फैलता है.
4. हैंड ड्रायर्स से कोरोना मर जाता है?
WHO के मुताबिक, नहीं नए कोरोना वायरस को मारने में हैंड ड्रायर्स कारगर नहीं है. इससे बचाव के लिए हमेशा अपने हाथों को अल्कोहल युक्त हैंडवॉश से साफ करें या साबुन पानी से हाथ धोते रहें, इससे बचने का सबसे कारगर तरीका यही है. हाथ धोने के बाद टिश्यू पेपर या हैंड ड्रायर्स से हाथ साफ कर सकते हैं.
5. पराबैंगनी कीटाणुनाशक लैंप मार सकता है कोरोना?
हाथ या शरीर के किसी भी हिस्से को कीटाणु रहित रखने के लिए पराबैंगनी कीटाणुनाशक लैंप का उपयोग नहीं किया जाना चाहिए, क्योंकि यह त्वचा पर जलन पैदा कर सकता है.
6. संक्रमित की पहचान में थर्मल स्कैनर कितना प्रभावी?
थर्मल स्कैनर तभी कोरोना से संक्रमित लोगों की पहचान कर सकता है, जब व्यक्ति को इस संक्रमण के कारण बुखार या उसके शरीर का तापमान सामान्य से ज्यादा हो. हालांकि, थर्मल स्कैनर कोरोना से संक्रमित उन लोगों की पहचान नहीं कर सकता, जिन्हें बुखार ना हो.
7. शरीर पर अल्कोहल या क्लोरीन का छिड़काव
पूरे शरीर पर अल्कोहल या क्लोरीन का छिड़काव करने से पहले से मौजूद वायरस को नहीं मारा जा सकता है, जो आपके शरीर में पहले ही प्रवेश कर चुके हैं.
8. निमोनिया से बचाने वाली वैक्सीन प्रभावी?
निमोनिया से बचाने के लिए इस्तेमाल होने वाली वैक्सीन कोरोना वायरस से बचाव नहीं करती. ये वायरस बिल्कुल नया और अलग तरीके का है. इससे निपटने के लिए शोधकर्ता वैक्सीन विकसित करने में जुटे हैं.
9. लहसुन खाना कोरोना को रोकने में मददगार?
लहसुन एक स्वस्थ भोजन है जिसमें कुछ रोगाणुरोधी गुण हो सकते हैं. हालांकि, फिलहाल ऐसी कोई शोध नहीं कि लहसुन खाने से कोरोना वायरस से बचा जा सकता है.
10. बुजुर्ग या बच्चों पर करता है हमला?
कोरोना वायरस से किसी उम्र के लोग प्रभावित हो सकते हैं. पहले से अस्थमा, डायबिटीज, दिल की बीमारी आदि से जूझ रहे लोगों को इस virus से प्रभावित होने का खतरा ज्यादा रहता हैं |
दोस्तों इन उपायों को करने के बाद आप Corona Virus से लड़कर उसे हरा सकते हैं |

Corona Virus की दवा

चेन ने कहा कि उनकी टीम ने इस वैक्‍सीन के विशाल पैमाने पर उत्‍पादन के लिए तैयारी कर ली है। बताया जा रहा है कि कोरोना वायरस की यह वैक्‍सीन एक महीने के शोध के बाद सफलतापूर्वक तैयार किया गया है। इसमें इबोला के टीकों का भी अध्‍ययन किया गया है। चीन की सरकारी मीडिया के मुताबिक यह वही चेन हैं जिन्‍होंने वर्ष 2003 में सार्स के फैलने के बाद मेडिकल स्‍प्रे बनाया था। इस स्‍प्रे से 14 हजार मेडिकल वर्कर्स की जान बच गई थी।

'टर्मिनेटर ऑफ इबोला' कही जाने वाली चेन जेनेटिक इंज‍िनियरिंग वैक्‍सीन की विशेषज्ञ हैं और उस टीम का नेतृत्‍व करती हैं जो जानलेवा बीमारियों के लिए वैक्‍सीन तैयार करती है। चेन ने कहा, 'महामारी एक सैन्‍य संकट की तरह से है। इसके केंद्र युद्धक्षेत्र हैं।' चेन चीन की पीपल्‍स लिबरेशन आर्मी में मेजर जनरल हैं। वह 26 जनवरी से इस वैक्‍सीन पर काम कर रही हैं।

Post a Comment

0 Comments